Scabies treatment

UPSCALE YOUR LIFE
0

Scabies treatment

 खुजली के उपचार-Scabies treatment में आयुर्वेद और घरेलू उपचारों का महत्वपूर्ण स्थान है। आयुर्वेद में खुजली का कारण विकृति और दोषों के बारे में जानकारी होती है, और इसे त्रिदोष (वात, पित्त, कफ) निर्माण के संतुलित रखने की दृष्टि से इलाज किया जाता है। खुजली के लिए आयुर्वेद में नीम, जलौका, जीरा, और तुलसी जैसी औषधियों का उपयोग किया जाता है। इसके अलावा, घरेलू उपचारों में शहद, नींबू, दही, और सरसों का तेल खुजली से राहत दिलाने में मददगार होते हैं। खुजली से राहत पाने के लिए स्वस्थ जीवनशैली अपनाना भी महत्वपूर्ण है, जैसे कि सही आहार, पानी पीना, और नियमित व्यायाम करना। ये सभी उपाय खुजली को कम करने में सहायक हो सकते हैं और त्वचा को स्वस्थ रखने में मददगार सिद्ध हो सकते हैं।

Scabies treatment  खुजली के उपचार-Scabies treatment में आयुर्वेद और घरेलू उपचारों का महत्वपूर्ण स्थान है। आयुर्वेद में खुजली का कारण विकृति और दोषों के बारे में जानकारी होती है, और इसे त्रिदोष (वात, पित्त, कफ) निर्माण के संतुलित रखने की दृष्टि से इलाज किया जाता है। खुजली के लिए आयुर्वेद में नीम, जलौका, जीरा, और तुलसी जैसी औषधियों का उपयोग किया जाता है। इसके अलावा, घरेलू उपचारों में शहद, नींबू, दही, और सरसों का तेल खुजली से राहत दिलाने में मददगार होते हैं। खुजली से राहत पाने के लिए स्वस्थ जीवनशैली अपनाना भी महत्वपूर्ण है, जैसे कि सही आहार, पानी पीना, और नियमित व्यायाम करना। ये सभी उपाय खुजली को कम करने में सहायक हो सकते हैं और त्वचा को स्वस्थ रखने में मददगार सिद्ध हो सकते हैं।


आयुर्वेद में खुजली के उपचार के लिए कई प्राकृतिक और प्रभावी तरीके हैं। खुजली का प्रमुख कारण दोषित दोष और अम्ल गुण होते हैं, इसलिए इसे सही करने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं में त्रिकटु, गुग्गुल, और नीम का प्रयोग किया जाता है। साथ ही, शुद्ध और सर्वोत्तम आहार का सेवन करना भी मददगार साबित होता है। घरेलू उपचार में तुलसी की पत्तियां, शहद, और दही का उपयोग खुजली को कम करने में मदद कर सकता है। इन उपायों को नियमित रूप से अपनाने से खुजली से आराम मिल सकता है और त्वचा स्वस्थ और सुंदर रह सकती है।


खुजली का उपचार करने के लिए आपको निम्नलिखित उपायों को अपना सकते हैं:

  • नीम के पत्तों का पेस्ट बनाकर लगाएं।
  • अदरक का रस और नमक मिलाकर खुजली वाले स्थान पर लगाएं।
  • तुलसी की पत्तियों को पीसकर खुजली वाले स्थान पर लगाएं।
  • शहद और निम्बू का रस मिश्रण बनाकर खुजली वाले स्थान पर लगाएं।
  • खाजू के पत्तों को पीसकर खुजली वाले स्थान पर लगाएं।
  • नारियल तेल और हल्दी का पेस्ट बनाकर लगाएं।
  • गुड़ और सरसों के तेल का मिश्रण बनाकर लगाएं।
  • नीम के तेल में करंज मिलकार लगाने से खजुली ख़त्म हो जाती है।
  • पावर (चक्रमर्द) के बीज के मंथन में नीबू का रस मिलकर, खजुली वाले जगह पर लगाने से लाभ होता है।
  • सर मैं मस्ती और खजुली होने पर नीबू का रस और सरसों का तेल बराबर मात्रा में लगाता हूं और बाद में दही से सर को धोने से सिर के रस और सरसों का तेल बराबर मात्रा में हो जाता है।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
12

Copyright (c) 2023 UPSCALE YOUR LIFE All Rights Reserved

To Top