Natural and safe homeopathy treatment for hair loss

UPSCALE YOUR LIFE
0


Natural and safe homeopathy treatment for hair loss 

आजकल की तेजी से बदलती जीवनशैली और तनावयुक्त दिनचर्या के कारण बालों का झड़ना आम समस्या बन गया है। होम्योपैथी एक प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति है जो विभिन्न रोगों के इलाज में प्रभावी है और यहां हम बालों के झड़ने का होम्योपैथी इलाज पर चर्चा करेंगे।

Natural and safe homeopathy treatment for hair loss  आजकल की तेजी से बदलती जीवनशैली और तनावयुक्त दिनचर्या के कारण बालों का झड़ना आम समस्या बन गया है। होम्योपैथी एक प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति है जो विभिन्न रोगों के इलाज में प्रभावी है और यहां हम बालों के झड़ने का होम्योपैथी इलाज पर चर्चा करेंगे।


होम्योपैथी का इलाज व्यक्ति की मानसिक , शारीरक और चारित्रिक विषेशता के आधार पर किया जाता हैं | यहाँ पर हम रोगी के लक्षण की चर्चा करेंगे और उसी लक्षण के हिसाब से रोगी खुद भी अपनी दवा का चुनाव कर सकते हैं |

Thuja (थूजा आक्सिडेण्टैलिस ) :

यह दवा उन लोगों के लिए लाभकारी होती हैं जिसके अंदर रोग का लक्षण निम्न प्रकार का हो ...

उमस भरे मौसम में रोगी के शरीर में त्वचा सम्बन्धी रोग पैदा हो जाये और उसके बाल झड़ने लगे |

डैंड्रफ की वजह से बाल गिराने लगे |

रोगी को सिर और चहरे पर ठण्ड  लगे , जिसके कारन उसे ढँक कर राखता हैं |

रोगी के सीर में गंभीर रूप से खजुली होना |

रोगी के सर के बाल सूखे , पतले और दो मुंहे हो |

रोगी के बालों का विकास बहुत ही धीरे गति से हो रहा हो |

यदि ये सभी लक्षण रोगी के अंदर मौजूद हैं , या इनमे से कोई एक भी मौजूद हैं तो थूजा का प्रयोग रोग को समाप्त कर देगा |


Fluoricum Acidum (फ्लोरिकम एसिडम):

इस होम्योपैथी दवा का उपयोग उन लोगों के लिए किया जाता है जिनके बाल सूखे और बहुत ज्यादा झड़ रहे हैं, विशेषकर सर्दी या बारिश के मौसम में।


Phosphorus (फॉस्फोरस):

यह दवा उन लोगों के लिए फायदेमंद है जो तेजी से बाल गिरा रहे हैं और जिनके बाल दुबले-पतले हो रहे हैं। यह विशेषकर स्वस्थ लोगों के लिए उपयुक्त है जो तनाव या रोजगार के कारण बालों के झड़ने की समस्या से गुजर रहे हैं।फास्फोरस  दवा उन रोगियों पर बड़ी तेजी से असर कराती हैं ..

जो लम्बे और गोर होते हैं और जिनका शारीरक विकाश बड़ी तेज गति से हुआ हो |

फास्फोरस का रोगी बहुत संवेदनशील और चिंतित होता हैं |

खोपड़ी में बहुत तेज खजुली होती हैं | सिर के बाल गुच्छो में गिरते हैं और सिर मैं डैंड्रफ हुआ हो |

Lycopodium (लायकोपोडियम):

इस दवा का उपयोग उन लोगों के लिए किया जाता है जो किसी भी उम्र में बालों के पतले होने की समस्या से जूझ रहे हैं और जिनके बाल आधे-आधे ग्रे हो गए हैं।यह दवा उन लोगों के लिए बहुत ही लाभदायक होती हैं जो बहुत ही बुद्धिमान होते हैं परन्तु शारीरिक रूप से कमजोर होते हैं | लायकोपोडियम का रोग शरीर के दाहिने भाग से शुरू होता हैं | इसमें सिर मैं खजुली होती हैं और गंजापन शुरू हो जाता हैं |


Arnica Montana (आर्निका मोंटाना):

यह दवा उन लोगों के लिए है जो बालों के झड़ने के साथ-साथ सिरदर्द और बालों की रूक्षता का सामना कर रहे हैं।0o


Sepia (सेपिया):

इस दवा का उपयोग महिलाओं के बालों के झड़ने की समस्या में किया जाता है, विशेषकर प्रसूति के बाद या हॉर्मोनल परिवर्तन के कारण।

Silicea (सिलिसिया):

यह दवा बालों को मजबूती प्रदान करने और उन्हें बचाने में मदद कर सकती है, विशेषकर जब बाल टूट रहे हों या बच्चों में बालों का झड़ना हो रहा हो।


होम्योपैथी में बालों के झड़ने का इलाज व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को मजबूती प्रदान करके किया जाता है। होम्योपैथी चिकित्सा व्यवस्था का मौजूदा दशकों से चला आ रहा है और इसमें न केवल इलाज, बल्कि रोग की जड़ से संपूर्ण ठीकी भी शामिल है।


होम्यो और आयुर्वेदिक इलाज एक साथ :

होम्यो और आयुर्वेदिक दवा का आधार एक ही हैं | क्योंकि दोनों में औषधि के मूल अर्क का प्रयोग ही किया जाता हैं सिर्फ सिद्धांत और प्रयोग अलग हैं | इसलिए इन दोनों दवा का प्रयोग एक दिन में अलग अलग समय पर करना हितकर होता हैं | 

होम्यो और आयुर दवा का प्रयोग एक साथ नहीं करना चाहिए | बेहतर परिणाम के लिए दोनों दवा का प्रयोग किया जा सकता हैं लेकिन अलग अलग समय पर | 

जैसे यदि किसी को बालों की समस्या हैं तो वह होम्यो दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा का प्रयोग कर सकता हैं | होम्यो दवा  लेने के २ घंटे बाद आयुर दवा को लिया जा सकता हैं | आजकल बेहतर परिणाम के लिए दोनों दवा का प्रयोग लाभकारी होता हैं |

  1. Frequently asked question :
1. क्या होम्यो दवा को खुद लिया जा सकता हैं बिना किसी चिकत्स्कीय सलाह के साथ ?

किसी भी दवा का प्रयोग बिना डॉक्टर के सलाह के लेना हितकारी नहीं होता हैं | होमियोपैथी एक ऐसी विधा हैं जिसमें दवा के लक्षण को होम्योपैथी मटेरियामेडिका से जानकारी लेकर समझा और उसका उपयोग किया जा सकता हैं | जानकारी ले कर व्यक्ति अपनी शारीरिक लक्षण के अनुसार होम्यो दवा ले सकता हैं |


2.क्या बालों की समस्या के इलाज में होम्यो दवा के साथ अमला का प्रयोग किया जा सकता है ?

जी हाँ | होम्यो दवा के साथ अमला का प्रयोग बाल के समस्या में लिया जा सकता हैं ,लेकिन अमला को होम्यो दवा लेने के  दो घंटे बाद लेना चाहिए |

3.क्या होम्यो सौंपू  बालों की समस्या में लाभदायक होते हैं ?

होम्यो में बालों के लिए कई शैम्पू , कंडीशनर हैं | ये बालों की समस्या में लाभकारी होते हैं | कुछ प्रमुख शैम्पू जैसे आर्निका , आर्निका कंडीशनर  आदि |

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
12

Copyright (c) 2023 UPSCALE YOUR LIFE All Rights Reserved

To Top